delhi me bhukamp ke jhatke: उत्तरी भारत में भूकंप के मजबूत झटकों की भीड़ 2023

दिल्ली में भूकंप उत्तरी भारत में मजबूत झटकों की भीड़ 2023

delhi me bhukamp ke jhatke: उत्तरी भारत में मजबूत भूकंप के झटकों की भीड़ 2023

शनिवार रात को उत्तरी भारत, delhi me bhukamp ke jhatke की अनुभूति हुई। हालांकि, कोई तुरंत नुकसान की रिपोर्टें नहीं हैं। दिल्ली में भूकंप के झटके रात 9:34 बजे महसूस हुए। भूकंप की तीव्रता का माप 5.8 था। दिल्ली-एनसीआर के अलावा, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में भूकंप के झटके महसूस हुए। भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान के हिंदूकुश पर्वतमाला में था। जम्मू-कश्मीर में भूकंप की तीव्रता का माप रिक्टर स्केल पर 5.8 था। भूकंप के झटके पाकिस्तान और अफगानिस्तान में भी महसूस हुए। भूकंप के बाद, लोग अपने घरों से निकले।


यह पढ़े – Understanding Environmental and Climate Change: पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन को समझें


भूकंप का तथ्य

इससे पहले, आज गुलमर्ग, जम्मू-कश्मीर में 5.2 माप का भूकंप हुआ था। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (एनसीएस) ने बताया कि भूकंप सुबह 8:36 बजे हुआ था। भूकंप का केंद्र गुलमर्ग से लगभग 184 किलोमीटर नीचे धरती की सतह से 129 किलोमीटर दूर था। रिपोर्टों के अनुसार, जून से अब तक इस साल जम्मू-कश्मीर में अलग-अलग तीव्रता वाले 12 भूकंप हुए हैं। इससे पहले, 10 जुलाई को जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में 4.9 माप का भूकंप हुआ था।

भूकंप के समय क्या करें और क्या नहीं करें?

आमतौर पर, हम भूकंप आने पर अपने घरों से बाहर निकलने की कोशिश करते हैं, लेकिन यह जल्दी में संभव नहीं होता। ऐसे में, अगर आप घर के अंदर हैं और भूकंप आता है, तो कोशिश करें कि आप जमीन पर बैठ जाएं। अगर पास में एक टेबल या फर्नीचर है, तो उसके नीचे बैठें और हाथ से सिर को ढ़क लें। इस समय अंदर ही रहें और बाहर न जाएं। सभी बिजली स्विच को बंद कर दें। अगर आप बाहर हैं, तो कोशिश करें कि ऊँची इमारतों और बिजली के खम्भों से दूर रहें। भूकंप के दौरान लिफ्ट का उपयोग न करें।

भूकंप के संदर्भ में पूछे जाने वाले प्रश्न

1. दिल्ली में हुए भूकंप की ताज़ा जानकारी क्या है?

दिल्ली में हुए भूकंप के बारे में ताज़ा जानकारी दी गई है कि कैसे और कब यह घटना घटी, तात्कालिक तथ्य और अन्य महत्वपूर्ण जानकारी।

2. भूकंप की तीव्रता कैसे मापी जाती है?

भूकंप की तीव्रता को रिक्टर स्केल पर मापा जाता है, जिसमें भूकंप की तात्कालिक तीव्रता को मापा जाता है जिसका परिणाम 5.8 जैसे आंकन के रूप में दिखाया जा सकता है।

3. जब भूकंप आता है, तो क्या करना चाहिए?

जब भूकंप आता है, आपको घर के अंदर ही रहने का प्रयास करना चाहिए। आपको फर्श पर बैठ जाना चाहिए और यदि संभव हो, तो टेबल या फर्नीचर के नीचे जाकर अपने सिर को हाथ से ढ़कना चाहिए।

4. भूकंप के बाद क्या करना चाहिए?

भूकंप के बाद, आपको घर से बाहर न निकलने का प्रयास करना चाहिए ताकि आपकी सुरक्षा सुनिश्चित रहे। आपको सभी बिजली स्विच को बंद कर देना चाहिए और ऊँची इमारतों से दूर रहने की कोशिश करनी चाहिए।

5. क्या भूकंप के समय लिफ्ट का उपयोग किया जा सकता है?

नहीं, भूकंप के समय लिफ्ट का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि यह आपकी सुरक्षा को खतरे में डाल सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *