नई नौकरी की Anxiety को दूर करने के लिए मनोयोग तकनीक 2023

नई नौकरी की Anxiety को दूर करने के लिए मनोयोग तकनीक 2023

नई नौकरी की Anxiety को दूर करने के लिए मनोयोग तकनीक 2023

Anxiety : नई नौकरी की शुरुआत में अक्सर घबराहट और डर का अनुभव होता है। यह सामान्य है, लेकिन यह आपके कामकाज को प्रभावित कर सकता है। इस ब्लॉग में, हम आपको नई नौकरी की Anxiety को दूर करने के लिए 10 तरीके के बारे में बताएंगे। हम आपको पूर्ण-संवेदी विधि के बारे में भी बताएंगे, जो एक मनोयोग तकनीक है जो Anxiety का प्रबंधन करने में मदद कर सकती है।

  1. अपने नए काम के बारे में सकारात्मक सोचें।नई नौकरी की शुरुआत में अक्सर घबराहट और डर का अनुभव होता है। लेकिन यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि यह एक नई शुरुआत है और आपके पास बहुत कुछ सीखने और हासिल करने का अवसर है। अपने नए काम के बारे में सकारात्मक सोचें और इस अवसर का लाभ उठाने के लिए तैयार रहें।
  2. अपने नए काम के बारे में पहले से ही कुछ जानने की कोशिश करें।आप अपने नए काम के बारे में जितना अधिक जानेंगे, उतना ही कम घबराहट और डर का अनुभव करेंगे। कंपनी के बारे में, आपके काम के बारे में, और आपके नए काम के माहौल के बारे में कुछ शोध करें।
  3. अपने नए काम के लिए तैयार रहें।अपने नए काम के लिए पूरी तरह से तैयार होने के लिए, आप कुछ चीजें कर सकते हैं। अपने नए काम के लिए आवश्यक सभी कौशल और ज्ञान हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करें। आप अपने नए काम के लिए आवश्यक दस्तावेजों और औपचारिकताओं को भी व्यवस्थित कर सकते हैं।
  4. अपने नए काम में अपने सीनियर्स और सहकर्मियों से मदद मांगने से न डरें।हर कोई एक नौकरी में नया था। इसलिए, अपने नए काम में अपने सीनियर्स और सहकर्मियों से मदद मांगने से न डरें। वे आपको आपके काम में मदद करने और आपके नए काम में घबराहट और डर को दूर करने में खुश होंगे।
  5. अपने नए काम में अपना समय निकालें।किसी भी नए काम में बसने में समय लगता है। इसलिए, अपने नए काम में अपना समय निकालें और धैर्य रखें। अपने नए काम में घबराहट और डर को दूर करने के लिए, अपने आप को हर दिन कुछ नया सीखने और करने के लिए चुनौती दें।
  6. अपने नए काम में सकारात्मक दृष्टिकोण रखें।किसी भी नए काम में सकारात्मक दृष्टिकोण रखना बहुत महत्वपूर्ण है। यह आपको अपने नए काम में सफल होने में मदद करेगा और घबराहट और डर को दूर करेगा।
  7. अपने नए काम में अपने दोस्तों और परिवार के साथ बात करें।अपने नए काम के बारे में अपने दोस्तों और परिवार के साथ बात करें। वे आपकी चिंताओं को दूर करने और आपको आपके नए काम में सफल होने में मदद कर सकते हैं।
  8. अपने नए काम में तनाव से बचें।किसी भी नए काम में तनाव से बचना बहुत महत्वपूर्ण है। तनाव आपकी घबराहट और डर को और बढ़ा सकता है। इसलिए, अपने नए काम में तनाव से बचने के लिए, अपने काम से ब्रेक लें, व्यायाम करें, और योग करें।
  9. अपने नए काम में खुश रहें।किसी भी नए काम में खुश रहना बहुत महत्वपूर्ण है। यह आपको अपने नए काम में सफल होने में मदद करेगा और घबराहट और डर को दूर करेगा। इसलिए, अपने नए काम में खुश रहने के लिए, अपने काम को एक चुनौती के रूप में देखें और हर दिन कुछ नया सीखने और करने के लिए चुनौती दें।
  10. अपने नए काम में अपने आप पर विश्वास रखें।किसी भी नए काम में अपने आप पर विश्वास रखना बहुत महत्वपूर्ण है। यह आपको अपने नए काम में सफल होने में मदद करेगा और घबराहट और डर को दूर करेगा। इसलिए, अपने नए काम में अपने आप पर विश्वास रखें और हर दिन अपने काम में अपना सर्वश्रेष्ठ दें।

मनोयोग क्या है? मनोयोग एक ध्यान तकनीक है जो आपको वर्तमान क्षण में ध्यान केंद्रित करने में मदद करती है। यह आपको अपने विचारों, भावनाओं और शरीर के संवेदनाओं के प्रति जागरूक बनने में मदद करता है, बिना किसी मूल्यांकन के।

पूर्ण-संवेदी विधि क्या है? पूर्ण-संवेदी विधि एक प्रकार का ध्यान है जो आपको अपने सभी पांच इंद्रियों के माध्यम से वर्तमान क्षण में ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है। आप अपने आस-पास की चीजों को देखेंगे, सुनेंगे, सूघेंगे, चखेंगे और महसूस करेंगे।

पूर्ण-संवेदी विधि से Anxiety का प्रबंधन कैसे करें? पूर्ण-संवेदी विधि का उपयोग करके, आप अपने ध्यान को अपने वर्तमान क्षण में ला सकते हैं और चिंता के विचारों और भावनाओं से दूर हो सकते हैं। जब आप अपने इंद्रियों के माध्यम से वर्तमान क्षण में ध्यान केंद्रित करते हैं, तो आप अपने विचारों और भावनाओं को अधिक तटस्थ रूप से देख पाते हैं। आप यह भी महसूस कर सकते हैं कि आपकी चिंता कम हो रही है।


यह पढ़े – Eye Flu क्या है और आई फ्लू के खतरों से बचने के उपाय 2023


 

यहाँ पूर्ण-संवेदी विधि का उपयोग करके Anxiety का प्रबंधन करने के कुछ चरणों हैं:

 

एक आरामदायक स्थिति में बैठें या लेटें।

अपनी आंखें बंद करें और अपने शरीर के चारों ओर ध्यान दें।

अपने आस-पास की चीजों को देखें, सुनें, सूघें, चखें और महसूस करें।

अपने विचारों और भावनाओं को महसूस करें, बिना किसी मूल्यांकन के।

यदि आपका ध्यान भटकता है, तो धीरे से और दयापूर्वक इसे अपने वर्तमान क्षण में वापस ले आइए।

इस अभ्यास को 5-10 मिनट तक करें।

आप इस अभ्यास को दिन में किसी भी समय कर सकते हैं, लेकिन यह विशेष रूप से उपयोगी है जब आप चिंतित महसूस करते हैं।

 

मुझे उम्मीद है कि यह ब्लॉग आपको पूर्ण-संवेदी विधि से चिंता का प्रबंधन करने में मदद करेगा। यदि आपके कोई प्रश्न हैं, तो कृपया मुझे बताएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *